jewar airport news in hindi 2020

jewar airport hindi news

Jewar Airport उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्धनगर जिले के जेवर में बनाया जाएगा, इस पर काम तेजी से चल रहा है। इसके निर्माण कार्य के लिए यूपी सरकार द्वारा यमुना एक्सप्रेसवे प्राधिकरण को नोडल एजेंसी बनाया गया है। Jewar Airport से नोएडा की दूरी लगभग 56 किलोमीटर है। यह एयरपोर्ट पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप के तहत बनाया जा रहा है। हवाई अड्डे के 2022 तक पूरी तरह से चालू होने की उम्मीद है।



जेवर हवाई अड्डे की वार्षिक क्षमता लगभग 50 लाख होगी, जबकि अगले 30 वर्षों में पूर्ण विस्तार के बाद, इसकी क्षमता लगभग 60 लाख सालाना होगी। जेवर हवाई अड्डा दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से लगभग 72 किलोमीटर दूर है। Jewar Airport देश के अन्य हिस्सों से यमुना एक्सप्रेसवे के माध्यम से जुड़ जाएगा। यूपी सरकार 1 अक्टूबर 2018 को अपनी नींव रखने की योजना बना रही है।


Jewar Airport के लिए 5 हजार हेक्टेयर जमीन चिन्हित की गई है। 2018 के अंत तक Jewar Airport बनाने के लिए बोलियों को आमंत्रित करने की योजना है।


उत्तर प्रदेश सरकार ने ग्रेटर नोएडा के जेवर में एशिया का दूसरा सबसे बड़ा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा बनाने के लिए कंपनी ‘यमुना इंटरनेशनल एयरपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड’ का गठन किया है। इसके बनने से हवाई अड्डे के निर्माण कार्य में तेजी आने की उम्मीद है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्यालय ने एक ट्वीट के माध्यम से इसकी जानकारी दी है। जेवर हवाई अड्डा एशिया का सबसे बड़ा हवाई अड्डा होगा और इसके निर्माण के बाद राज्य में रोजगार और व्यापार की संभावनाएँ भी विकसित होंगी। 


यूपी सरकार की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि जेवर ग्रीनफील्ड इंटरनेशनल एयरपोर्ट उत्तर प्रदेश में औद्योगिक विकास को बढ़ावा देगा और औद्योगिक विकास को एक नए स्तर पर पहुंचाएगा। 30 हजार करोड़ रुपये के निवेश से बनने वाली इस परियोजना से सरकार को एक लाख 10 हजार करोड़ रुपये से अधिक की आय होने का अनुमान है। साथ ही, एक लाख से अधिक लोगों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार मिलने की उम्मीद है। यह एयरपोर्ट नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद और यमुना एक्सप्रेसवे क्षेत्र में लगभग एक लाख करोड़ रुपये का निवेश लाएगा।


2022 तक काम पूरा कराने की तैयारी

जेवर हवाई अड्डे के लिए वित्तीय बोली 29 नवंबर 2019 को खोली गई थी। इसमें ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल एजी ने प्रति यात्री 400.97 रुपये के राजस्व भुगतान की दर से हवाई अड्डे के लिए अनुबंध जीता था। सरकार के प्रवक्ता ने कहा कि उत्तर प्रदेश में बनने वाला यह हवाई अड्डा दुनिया का 5 वाँ सबसे बड़ा हवाई अड्डा होगा। लगभग 5000 हेक्टेयर पर स्थित ग्रेटर नोएडा के जेवर में प्रस्तावित हवाई अड्डा तेजी से काम कर रहा है। प्रस्ताव के अनुसार, 2022-23 में जेवर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से उड़ानें शुरू होंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *